slider
slider

जिला चिकित्सालय एवं मेडिकल कालेज के साथ उद्यानिकी महाविद्यालय व पालीटेक्निक कालेज के लिए चिरमिरी में जमीन उपलब्ध कराने का प्रस्ताव निगम की विशेष सभा मे सर्वसम्मति से पास

news-details

एमआईसी सदस्य शिवांश जैन द्वारा प्रस्तुत चिरमिरी को एक हजार करोड़ का विशेष पैकेज देने की मांग का प्रस्ताव भी सर्वसम्मति से पारित

चिरमिरी । गुरुवार को सम्पन्न चिरमिरी नगर पालिक निगम की विशेष सभा मे पूर्ववर्ती राज्य सरकार द्वारा घोषित एमसीबी जिले के जिला चिकित्सालय एवं मेडिकल कालेज के साथ ही उद्यानिकी महाविद्यालय के लिए आवश्यक जमीन देने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित कर दिया । इसके साथ ही एमआईसी सदस्य शिवांश जैन द्वारा चिरमिरी के अस्तित्व को बचाने के लिए प्रस्तुत चिरमिरी को एक हजार रुपये का विशेष पैकेज देने की राज्य सरकार से मांग करने का प्रस्ताव भी सर्वसम्मति से पारित हो गया । इसके साथ ही जाती प्रमाणपत्र के 200 प्रकरण को अग्रिम कार्यवाही के लिए एसडीएम कार्यालय भेजने का प्रस्ताव भी चिरमिरी नगर पालिक निगम की विशेष सभा मे सर्वसम्मति से पारित हो गया ।

      इससे पूर्व सदन को संबोधित करते हुए चिरमिरी की महापौर श्रीमती कंचन जायसवाल ने कहा कि पूर्व विधायक डॉ. विनय जायसवाल के अथक प्रयासों से पूर्व मुख्यमंत्री ने एमसीबी जिला चिकित्सालय के चिरमिरी में स्थापित करने की घोषणा की थी । जिसके लिए अधिकारियों द्वारा पोंडी के गोकुल नगर के पास 3.2 एकड़ जमीन चिन्हाकित की गई है । चूंकि ज्यादातर स्थानों में जिला चिकित्सालय के पास ही मेडिकल कालेज स्थित है । इसलिए चिरमिरी में भी जिला चिकित्सालय के साथ ही मेडिकल कालेज के लिए भूमि उपलब्ध कराने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा जाना चाहिए । महापौर ने आगे कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चिरमिरी में उद्यानिकी महाविद्यालय एवं पालीटेक्निक कालेज स्थापित करने की घोषणा की थी, जिसके लिए चित्तझोर पोंडी के पास जमीन चिन्हाकित कर ली गई है ।  इसके लिए भी निगम द्वारा अनापत्ति प्रमाणपत्र दिया जाना है ।

     एसआईसी सदस्य शिवांश जैन ने सदन को संबोधित करते हुए कहा कि चिरमिरी के स्थायित्व को बरकरार रखने के लिए शहर का मास्टर प्लान बनाये जाने की जरूरत है । उन्होंने इसके लिए एक हजार करोड़ रुपये का विशेष पैकेज राज्य एवं केंद्र सरकार से मांगे जाने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया, जिसमे चिरमिरी में जंगल सफारी, एडवेंचर पार्क, सात अजूबे, फिल्मसिटीजि, इंडोर स्टेडियम व रोप वे के निर्माण सहित अन्य मांगे शामिल है जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया ।

      वही सदन में भाजपा के पार्षद तेजनारायण सिंह ने आंगनबाड़ी केंद्र में नल कनेक्शन नही होने एवं कोरिया कालरी के वार्डो में साफ सफाई नही होने का मुद्दा उठाया । सत्ता पक्ष के एमआईसी पार्षद सन्नी चोहथा ने पिछले डेढ़ साल से  वृद्धा पेंशन के नए मामले स्वीकृत नही होने का मुद्दा उठाया । भाजपा पार्षद संदीप सोनवानी ने छोटा बाजार में पाईप लाईन बिछने के डेढ़ साल बाद भी पानी की सप्लाई नही होने, बरतुंगा के सती मंदिर के पास ओपनकास्ट खदान आने के बावजूद बॉउंड्री वाल का निर्माण कराने एवं विद्युत शवदाह गृह में हुई चोरी के मामले में एफआईआर कराने का मुद्दा उठाया । पार्षद श्रीमती मोतिम बंजारे ने वार्ड क्रमांक- 37 के आंगनबाड़ी केंद्र में बिजली एवं पानी नही होने का मुद्दा उठाया ।

      सदन में नेता प्रतिपक्ष संतोष सिंह ने सत्तापक्ष के प्रस्तावो पर बहस में हिस्सा लेते हुए सत्ता पक्ष पर विकास कार्यो में भेदभाव करने का आरोप लगाया ।

whatsapp group
Related news