slider
slider
slider
slider
slider
slider

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने दिया कुनकुरी विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत नारायणपुर को एक और सौगात : बहुप्रतीक्षित मांग हुई पूरी,कुनकुरी के नगर बंध में कपरी नदी में स्टापडेम निर्माण कार्य हेतु लागत राशि रु. 297.15 लाख का दिया प्रशासकीय स्वीकृति

news-details

 

नारायणपुर : ग्रामीणों की बहुप्रतीक्षित मांग नारायणपुर के नगर बंध  में कपरी नदी पर स्टापडेम निर्माण कार्य को पूरा करते हुवे मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कुनकुरी विधानसभा क्षेत्र के लोगों को एक और सौगात दी है,कुनकुरी के नगर बंध कपरी नदी में स्टापडेम निर्माण कार्य हेतु लागत राशि रु. 297.15 लाख का प्रशासकीय स्वीकृति छत्तीसगढ़ सरकार ने दिया है, इस तारतम्य प्रेम सिंह घरेंद्र अपर सचिव जलसंसाधन विभाग छत्तीसगढ़ शासन ने पत्र जारी भी कर दिया है।

मिली जानकारी के कारण कुनकुरी के प्रेमबंध (नगर बंध) स्टापडेम निर्माण कार्य हेतु गत कई वर्षों से ग्रामीणों द्वारा लगातार मांग किया जा रहा था,उक्त मांग मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के समक्ष भी ग्रामीणों ने आवेदन देकर किया था,उक्त आवेदन को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुवे मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने निर्माण कार्य हेतु लागत राशि रु. 297.15 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति दिलाई है।प्रेम सिंह घरेंद्र अपर सचिव जलसंसाधन विभाग छत्तीसगढ़ शासन ने स्वीकृति आदेश जारी भी कर दिया है।उक्त आदेश में प्रमुख अभियंता का पत्र क्र.-413/बो.प्र./प्रशा.स्वी./ह.ग.क./2023/1081, दि. 12.02.2024 का हवाला देते हुवे लिखा गया है कि राज्य शासन एतद् द्वारा जशपुर जिले के नारायणपुर के नगर बंध स्टापडेम निर्माण कार्य हेतु लागत राशि रु. 297.15 लाख (रुपये दो करोड़ सतानबें लाख पंद्रह हजार) मात्र की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान करता है। योजना के निर्माण से निस्तारी, भू-जल संवर्धन, पेय जल एवं कृषकों को स्वयं के साधन से 150 हे. क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। कार्य विभाग नियमावली की कंडिका 2.006 के नीचे दिये गये नोट 3 (बी) एवं 3 (सी) के अनुसार योजना की तकनीकी स्वीकृति दी जाकर एवं अन्य अभीष्ट औपचारिकताओं को पूर्ण करने के पश्चात निर्माण कार्य प्रारंभ किया जावे तथा कार्य पूर्ण होने के उपरांत योजना का पूर्णता प्रमाण-पत्र शासन को दिया जावे। छत्तीसगढ़ वित्तीय संहिता भाग-एक के नियम-10 के अनुसार मुख्य अभियंता का यह दायित्व है कि वे कार्य पर नियंत्रण रखें तथा उनके कार्यालय तथा अधीनस्थ आहरण वितरण अधिकारियों द्वारा प्रशासकीय वित्तीय नियमों का पालन हो। योजना पर व्यय बजट शीर्ष मांग संख्या 41, अनुसूचित जनजाति उपयोजना, लेखा शीर्ष 4702, लघु सिंचाई पर पूंजी परिव्यय, (102) भू-तल जल 0102-अनुसूचित जनजाति उपयोजना, (5059) एनीकट / स्टापडेम का निर्माण, #97, निर्माण कार्य, 003 बांध एवं नहर के अंतर्गत विकलनीय होगा। छ.ग. शासन, वित्त एवं योजना विभाग, मंत्रालय के वित्त निर्देश 25/2012 अनुसार गठित समिति की बैठक दिनांक 16.02.2024 में समिति की अनुशंसा एवं माननीय मंत्री जी का प्रशासकीय अनुमोदन प्राप्त की गई है। योजना का कार्य स्वीकृत राशि एवं निर्धारित समयावधि के अंतर्गत ही पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें,लागत वृद्धि स्वीकार्य नहीं होगी। निर्माण कार्य की लागत में मितव्ययता को सुनिश्चित किया जाने का आदेश जारी हुआ है। उक्त निर्माण कार्य में संबंधित मुख्य अभियंता / अधीक्षण अभियंता / कार्यपालन अभियंता को निर्माण कार्य की उच्च गुणवत्ता सुनिश्चित करने भी निर्देशित किया गया है। । इस एनीकट की लंबाई 45 मीटर और नदी तल से ऊंचाई 3.5 मीटर होगी। एनीकट के ऊपरी सतह की चौड़ाई 3.5 मीटर होगी। इस एनीकट के जल भराव की क्षमता 0.079 मिलियन क्यूबिक मीटर लगभग होगी। एनीकट का निर्माण 30/06/2025 तक पूरा किया जाना है।

whatsapp group
Related news