slider
slider
slider
slider
slider
slider

चिरमिरी पुलिस ने उड़ीसा से किया हत्या के एक फरार आरोपी को गिरफ्तार, एक चिरमिरी से गिरफ्तार, एक फरार

news-details

चिरमिरी। चिरमिरी पुलिस ने हत्या के एक आरोपी को उड़ीसा से गिरफ्तार कर लिया है।एक आरोपी को चिरमिरी से गिरफ्तार  किया गया है, जबकि एक आरोपी अभी भी फरार है।

मामले की जानकारी देते हुए चिरमिरी थाना प्रभारी अमित कौशिक ने बताया कि प्राथी गोदरीपारा निवासी मनीष उपाध्याय ने चिरमिरी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया कि 07 जून 24 को रात्रि करीब 10.45 बजे जब वह खाना खाकर घर के बाहर घुम रहा था, उसी समय शराब के नशे में गणेश सेठ्ठी एवं उनके दोस्त ऋषभ व किन्तु प्रधान आये और प्राथी को गाली देने लगे व जान से मारने की धमकी देने लगे । जब प्रार्थी ने उन्हें गाली देने से मना किया तो वे लोग नाराज होकर प्रार्थी से हाथ मुक्का से मारपीट करने लगे, जिससे प्रार्थी की चोट लगा है । उसी समय प्रार्थी के पिता राम नरेश उपाध्याय बीच चचाव करने आये तो ऋषभ दोडकर झाड़ी तरफ गया और वहां से फरसा लेकर आया और प्रार्थी के पिता पर वार कर दिया जिससे प्रार्थी के पिता के कान के पीछे चोट लग गया और खून निकले लगा ।  

     घटना के बाद प्रार्थी अपने पिता को लेकर शासकीय अस्पताल ईलाज के लिए लेकर गया था । जहां प्राथी के पिता आहत रामनरेश उपाध्याय का दिनांक 15 जून 24 को ईलाज दौरान मौत हो गई । जिसके बाद चिरमिरी पुलिस ने प्रकरण में धारा 302 भाययि. जोड़कर प्रकरण विवेचना में लिया । घटना के संबंध में एमसीबी एसपी चन्द्र मोहन सिंह को अवगत कराया जिनके द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुये त्वरित कार्यावाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया ।

     वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए प्रकरण के आरोपी गणेश से‌ट्ठी  उम्र 37 वर्ष निवासी चीफ हाउस गोवरीपारा को दिनांक 27 जून 24 को उड़ीसा से गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है । तथा प्रकरण का मुख्य आरोपी ऋषभ कुमार महानंदी उर्फ ऋशु  उम्र 22 वर्ष निवासी पोस्ट आफिस लाईन गोवरीपारा का घटना दिनांक से फरार था, जिसे  06 जुलाई 2024 को गिरफ्तार कर आरोपी के कब्जे से घटना में प्रयुक्त फरसा को बरामद कर आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है। अभी भी एक आरोपी फरार है जिसे चिरमिरी पुलिस जल्द गिरफ्तार करने की बात कह रही।

     इस सम्पूर्ण कार्यवाही में चिरमिरी थाना प्रभारी अमित कौशिक के साथ सहायक उप निरीक्षक शेष नारायण सिंह, प्रधान आरक्षक संजय पांडेय, प्रिंस राम, विश्वनाथ सिंह, आरक्षक शाहीद परवेज एवं अमित गुप्ता की सराहनीय भूमिका रही ।

whatsapp group
Related news